Loading...

Proceeding
Sno Hearing Date Procceding Next Hearing Date & Time Status
1 01-10-2020 प्रकरण आज सुनवाई हेतु नियत है।

उत्तरवादी क्रमांक 2 की ओर से आज उत्तर प्रस्तुत किया गया। उत्तरवादी क्रमंाक 1 को प्रतिलिपि प्रदान की गई। उत्तरवादी क्रमंाक 1 ने इसका प्रतिउत्तर प्रस्तुत करने हेतु समय की मांग की। प्रार्थना स्वीकृत।

3. प्रकरण सुनवाई हेतु दिनंाक 28.11.2020 को अपरान्ह 3ः30 बजे प्रस्तुत किया जावे।
28-11-2020
15:30:00
Under Process
2 28-11-2020 उत्तरवादी क्रमांक 1 की ओर से श्री लोकनाथ नायक एवं श्री श्याम काबरा स्वयं उपस्थित।

उत्तरवादी क्रमांक 2 की ओर से श्री पी.एल. सिदार, अधीक्षण यंत्री, महासमुंद एवं श्री अमर सिंह पटेल, कार्यपालन यंत्री (परियोजना) महासमुंद वीडियों काॅफेरंेसिंग के माध्यम से उपस्थित।

2. श्री श्याम काबरा ने उत्तरवादी क्रमांक 1 की ओर से प्रतिउत्तर प्रस्तुत किया तथा जानकारी दी कि प्रतिउत्तर की प्रतिलिपियाॅ ई-मेल के माध्यम से उत्तरवादी क्रमंाक 2 के प्रतिनिधियों को भेज दी गई है।

3. प्रकरण के तथ्यों की गंभिरता को देखते हुए उत्तरवादी क्रमंाक 2 के प्रतिनिधियों को निर्देश दिया गया कि वे उत्तरवादी क्रमंाक 1 सहित उनके शिकायत में दिए गए विद्युत संभागों में किसानों एवं अन्य रहवासियों की बिलिंग किस प्रकार की जा रही है उसका समुचित विवरण व अन्य जानकारी लेकर तैयारी के साथ स्वतः आयोग कार्यालय में आगामी सुनवाई दिनांक को नियत समय पर उपस्थित रहें।

4. उत्तरवादी क्रमंाक 2 के प्रबंध निदेशक को भी इस प्रकरण के सुनवाई के समय आयोग कार्यालय में उपस्थित रहने हेतु निर्देशित किया जाए।

5. प्रकरण सुनवाई हेतु दिनंाक 01.12.2020 को अपरान्ह 3ः30 बजे प्रस्तुत किया जावे।
01-12-2020
15:30:00
Under Process
3 01-12-2020 उत्तरवादी क्रमांक 1 की ओर से श्री लोकनाथ नायक एवं श्री श्याम काबरा स्वयं उपस्थित।

उत्तरवादी क्रमांक 2 की ओर से कंपनी के प्रबंध निदेशक श्री हर्ष गौतम एवं श्री पी.एल. सिदार, अधीक्षण यंत्री, श्री अमर सिंह पटेल, कार्यपालन यंत्री, श्री एस.के. खरे, अधीक्षण यंत्री एवं श्री टी.आर. धीवर, कार्यपालन यंत्री स्वयं उपस्थित।

2. उत्तरवादी क्रमांक 1 की ओर से श्री श्याम काबरा द्वारा निम्न कथन किया गया-

1. सराईपाली क्षेत्र के अनेक किसानों के पंप कनेक्शन में मीटर नहीं लगा है। बिना मीटर किसानों को खपत आकलित कर बिल दिए जा रहे हैं और जहाॅ मीटर लगा हुआ है वहाॅ प्रतिमाह रीडिंग नहीं होती, लेकिन खपत से अधिक के लिए बिल जारी किए जा रहे हैं।

2. मीटर नहीं लगे होने के कारण तथा लगे हुए मीटरों की समुचित रीडिंग के अभाव में फीडरों पर लगे मीटरों की रीडिंग के आधार पर बिलिंग करने का क्लेम किया जा रहा है जो सही नहीं है। वस्तु स्थिति यह है कि कई किसानों को जारी बिल अनुसार पंप का लोड फैक्टर 800 प्रतिशत तक पाया गया है जो कि संभव नहीं है।

3. किसानों के द्वारा स्थापित 3 एच.पी. के पंप को अधिक भार का बताकर उसे 5एच.पी. बताकर बिलिंग की जा रही है, जिससे किसानों पर अधिक भार पड़ रहा है। इस तरह, अधिक भार और आकलित खपत के उत्पन्न त्रुटियों के कारण किसानों पर अत्यधिक आर्थिक भार पड़ रहा है।

4. क्षेत्र के अधिकांश ग्रामों में बहुत अधिक संख्या में ट्रांसफार्मर या तो खराब है या जल चुके हैं। इन ट्रांसफार्मरों को न ही ठीक किया जा रहा है और न ही नया ट्रांसफार्मर लगाया जा रहा है। जिससे प्रभावित उपभोक्ताओं को बिजली की आपूर्ति भी नहीं हो पा रही है। इस संबंध में पूछे जाने पर उत्तरवादी ने महासमुंद क्षेत्र के ग्राम भंवरपुर, सिंगनपुर, बढ़ियापाली एवं गुढ़यारी में बहुत अधिक दिनों से ट्रासंफर्मर के खराब होने की पुष्टि की गई।

5. फीडर में दर्ज खपत के आधार पर आकलित खपत बहुत अधिक होने से उपभोक्ताओं की औसत बिलिंग अधिक खपत के लिए हो रही है। जिससे उन्हें आर्थिक हानि हो रही है।

3. उत्तरवादी क्रमंाक 2 की ओर से कंपनी के प्रबंध निदेशक श्री हर्ष गौतम द्वारा यह पुष्टि की गई कि सराईपाली, महासमुंद क्षेत्र के उपभोक्ताओं की बिलिंग संबंधी समस्याओं से वे अवगत है तथा इस समस्या की जाॅच हेतु मुख्य अभियंता स्तर के अधिकारियों को मौके पर भेजा गया और समाधान हेतु शिविर आयोजित किए गए लेकिन उक्त शिविरों में किसानों या अन्य उपभोक्ताओं के प्रतिनिधि उपस्थित नहीं हुए जिससे समस्या का समाधान नहीं हो पाया। श्री गौतम द्वारा यह प्रस्ताव रखा गया कि यदि उत्तरवादी क्रमंाक 1 अपने एक या दो प्रतिनिधियों के साथ उपस्थित होकर समस्यातथ्यों की जानकारी देने पर सहमत है तो इस लंबित समस्या के समाधान हेतु ग्राम स्तर पर वरिष्ठ अधिकारियों के उपस्थिति में कंपनी शिविर का आयोजन करने के लिए तैयार है जिसमें किसानों और ग्रामीणों के बिलिंग की समस्या का समाधान हो सकता है बशर्ते उपभोक्ता संशोधित बिल अनुसार राशि का भुगतान करने के लिए आगे आवें। उक्त शिविर में उपस्थित कंपनी के वरिष्ठ अधिकारी उपभोक्तओं के अन्य समस्याओं का समाधान भी करेंगे। प्रबंध निदेशक द्वारा यह भी आश्वस्त किया गया कि उपभोक्ताओं की समस्याओं के निराकरण हेतु ग्रामीण स्तर पर प्रस्तावित शिविर आगामी पाॅच-छः महिनों की कालअवधि में आयोजित किए जाएगें।

4. उत्तरवादी क्रमंाक 1 ने प्रबंध निदेशक के पहल का स्वागत करते हुए उन्हें यह आश्वस्त किया गया कि प्रस्तावित शिविर 15 दिसंबर के पश्चात्् आयोजित करने पर वे स्वयं उपभोक्ताओं के प्रतिनिधि के साथ उपस्थित होकर समस्याओं के निराकरण में सकारात्मक सहयोग करें।

5. उभयपक्षों की सहमति को ध्यान में रखते हुए उन्हें निर्देशित किया जाता है कि आज की सुनवाई में उपभोक्ताओं की समस्या के निराकरण हेतु आपसी सहमति से शिविर आयोजित करने पर हुई सहति के पालन में कंपनी उक्त शिविरों के आयोजन हेतु ग्रामवार, तिथिवार कार्यक्रम की अग्रिम सूचना क्षेत्र के उपभोक्ताओं एवं श्री श्याम काबरा को देंगें। इस संबंध में कंपनी को निर्देशित किया गया कि उपभोक्ताओं की शिकायतों के समाधान हेतु प्रस्तावित शिविरों के आयोजन से संबंधित जानकारी का व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाए ताकि क्षेत्र में व्याप्त उपभोक्ता समस्याओं का यथोचित निदान करने में शिविर का आयोजन सफल हो सके।

6. उत्तरवादी क्रमंाक 2 शिविरों की आयोजन, उन पर जन-सामान्य का प्रतिसाद और समस्याओं के निदान हेतु किए गए कार्याे का विस्तृत प्रतिवेदन आगामी सुनवाई तिथि के पूर्व आयोग के समक्ष प्रस्तुत करें।

7. उपरोक्त तथ्यांे के प्रकाश में समस्याओं के निदान हेतु उभयपक्षों को समुचित समय दिया जाना आवश्यक है। अतः प्रकरण की अगली सुनवाई 07.05.2021 को अपरान्ह 3ः30 बजे नियत की जाती है।
07-05-2021
15:30:00
Under Process